मोदी शासन, भाषण और आश्वासन का शासन : कांग्रेस

congressssssनई दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने शुक्रवार (26 मई) को तीन साल पूरे कर लिए हैं।आज से तीन साल पहले 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी देश की सत्ता पर काबिज़ हुए थे। बीजेपी सरकार के तीन साल पूरे होने पर जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में एशिया के सबसे लम्बे पुल ढोला-सादिया पुल का उद्घाटन किया। वहीँ दूसरी तरफ विपक्षी दल कांग्रेस के नेता देश भर में प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं। कमलनाथ ने दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए मोदी सरकार की उपलब्धियों को बतौर भाषणबाजी और आश्वासन करार दिया। उनके मुताबिक इन दो उपलब्धियों के अलावा उनके पास कोई उपलब्धियां गिनाने के लिए नहीं है।

कांग्रेस के बड़े नेता कमलनाथ ने कहा कि मोदी सरकार का पूरा ध्यान सिर्फ प्रचार पर है, उनके पास देश के लिए कोई ठोस नीति मौजूद नही है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी सरकार के तीन साल पूरे होन के जश्न में दो हजार करोड़ रुपए खर्च कर रही है, जबकि इन तीन सालों में देश के किसानों की बद से बदतर हालत हो गयी है। सबसे ज्यादा किसानों ने आत्महत्या मोदी सरकार के कार्यकाल में ही की है। किसानों को फसल बीमा योजना का कोई फायदा नहीं मिला है।

कमलनाथ ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने पिछले तीन सालों में कुछ नहीं किया है। मोदी सरकार ने मेक इन इंडिया, जनधन और स्वच्छ भारत अभियान जैसी योजनाओं के प्रचार पर ध्यान दिया है। कमलनाथ ने काले धन वापसी के वादे पर मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा, सरकार बताए कि कितना काला धन वापस आया है, साथ ही यह भी बताए कि नोटबंदी से देश को कितना फायदा हुआ। कमलनाथ के अलावा देशभर में मोदी सरकार के तीन सालों की पोल खोलने को लेकर कांग्रेस की ओर से प्रेस कांफ्रेंस की जा रही हैं। मोदी सरकार के तीन साल के जश्न में विरोध में कांग्रेस की ओर से भाजपा सरकार के तीन असफल वर्ष की पोल खोल योजना के तहत कांग्रेस पार्टी के नेताओं की ओर से आज देशभर में प्रेस कांफ्रेंस की जाएंगी।