मनरेगा कार्यो का स्थलीय निरीक्षण

cpyq7z20रूद्रप्रयाग। जिलाधिकारी श्रीमती रंजना द्वारा विकास भवन सभागार में मनरेगा के अन्तर्गत होने वाले कार्यो की समीक्षा बैठक ली। जिलाधिकारी ने विभागो को निर्देश दिये कि गतवर्ष मनरेगा के अन्तर्गत हुए कार्यो की प्रगति एक सप्ताह के अन्दर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि अधिकारी मनरेगा से होने वाले कार्यो का स्थलीय निरीक्षण करे। जिससे कार्यो की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखा जाय। उन्होने कहा कि मनरेगा के अन्तर्गत होने वाले कार्यो में किसी प्रकार लापरवाही करने पर सम्बन्धित विभाग के अधिकारी पर कार्यवाही की जायेगी।

बैठक में वर्ष 2017- 18 के अन्तर्गत विभिन्न विभागो द्वारा होने वाले मनरेगा के कार्यो की रूपरेखा रखी गयी। वन विभाग द्वारा मनरेगा के अन्तगर्त  चालखाल एवं सुरक्षा दीवार के लिए रू0 20.00 लाख, सिंचाई विभाग द्वारा सिंचाई गूलोें की मरम्मत कार्य के लिए रू0 62.77 लाख, पशुपालन विभाग द्वारा मुर्गी पालन  के लिए रू0 23.55 लाख, डेरी विभाग गंगा गाय योजना के लिए 24.75 लाख, मत्स्य विभाग तलाब निर्माण योजना के अन्तर्गत 5.00 लाख, स्वजल विभाग द्वारा ठोस एवं तरल अपशिष्ठ प्रबन्धन के लिए 659.50 लाख, बाल विकास विभाग द्वारा आंगनवाडी केन्द्रों के लिए 117.00 लाख, ग्राम्य विकास विभाग के तालाब निर्माण कार्य, प्रधानमंत्री आवास योजना, मेरा गांव मेरा सड़क एवं बायोगैस योजनाओं के लिए 334.93 लाख, पंचायतीराज विभाग द्वारा 14 वित्त आयोग के लिए 854.00 लाख, कृषि विभाग द्वारा चैकडैम, चैकवाल, रिटेनिंगवाल, बान्डैडवाल, स्पर, पौधरोपण कार्य हेतु 16.5400लाख  चाय विकास बोर्ड द्वारा नर्सरी व चाय बागान के लिए 38.23 लाख तथा उद्यान विभाग द्वारा वर्मी कम्पोस्ट, पाली लाईन सिंचाई टेंक/फार्म पौण्ड व उद्यानीकरण (नीबूू, आंवला,सेब, अखरोट) के लिए रू0 250.00 लाख का प्रस्ताव रखा गया।

GST Ads 250x250px

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डीआर जोशी, उप वन संरक्षक राजीव धीमान, खण्ड विकास अधिकारी अगस्त्यमुनि, ऊखीमठ व जखोली सहित सम्बन्धित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।