क्या केजरीवाल की कुर्सी जाने वाली है?

RBL Nigamआर.बी.एल.निगम, दिल्ली ब्यूरो चीफ

केजरीवाल सरकार और ख़ुद केजरीवाल को अपनी ज़िंदगी का सबसे बड़ा झटका लगने वाला है क्यूँकि CBI ने एक तरह से उनकी गर्दन पर हाथ रख दिया है।सोमवार को सीबीआई ने दिल्ली सरकार के पूर्व प्रिंसिपल सेक्रेटेरी राजेंद्र कुमार के ख़िलाफ़ जारी भ्रष्टाचार के केस में चार्ज शीट दाख़िल कर दी है ।

राजेंद्र कुमार को केजरीवाल के बेहद ख़ासमखास में गिना जाता है । ग़ौरतलब है कि राजेंद्र कुमार को इसी साल भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था । CBI ने इससे पहले गृह मंत्रालय से इसके लिए मंज़ूरी माँगी थी जो उन्हें मिल गयी है । बता दें कि इस स्तर के सरकारी अधिकारी पर चार्जशीट दाख़िल करने के लिए गृह मंत्रालय से मंज़ूरी लेने का प्रावधान इस सरकार के पहले से ही लागू है ।

kejriwaalराजेंद्र कुमार 1989 बैच के IAS ऑफ़िसर हैं उन्हें और उनके साथ चार अन्य के ख़िलाफ़ ESPL को फ़ायदा पहुँचा कर 50 करोड़ रुपए का सरकारी प्रोजेक्ट देने का आरोप है । CBI ने साफ़ साफ़ बताया है कि उसके पास राजेंद्र कुमार और बाक़ी लोगों के ख़िलाफ़ भरस्टाचार के इस मामले में पर्याप्त सबूत हैं । CBI ने ये भी बताया कि उनके पास राजेंद्र कुमार के कम्प्यूटर से बरामद ऑडीओ क्लिप भी है जो उन्होंने राजेंद्र कुमार के ऑफ़िस में रेड डालते वक़्त पायी थी ।

जब CBI ने राजेंद्र कुमार पर रेड की थी तो अपनी ज़ुबान पर कंट्रोल ना रखते हुए केजरीवाल ने PM मोदी को कायर और मानसिक रोगी क़रार दे दिया था वहीं ये भी जान लेना ज़रूरी है कि जब कोई केजरीवाल पर आरोप लगाता है तो वे कहते हैं जाँच करवा लो जी अगर मेरा क़ुसूर साबित हो तो फाँसी पर लटका देना लेकिन जाँच करने के लिए जब उनपर नहीं बल्कि उनकी सरकार के एक अधिकारी पर CBI ने रेड की तो केजरीवाल ने CBI विभाग को नहीं बल्कि सीधे सीधे देश के प्रधानमंत्री को कायर और मानसिक रोगी कह दिया था

jjks-250x250