कार्यों की गुणवत्ता बनी रहे : DM

almora-newsअल्मोड़ा। ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल समस्या से निपटने के लिए पेयजल से जुड़े अधिकारी पूर्ण तैयारी के साथ काम करने के साथ ही पानी के दुरूपयोग पर भी पैनी नजर रखें यह बात जिला पंचायत अध्यक्ष पार्वती मेहरा ने आज जिला पंचायत की समीक्षा बैठक के दौरान कही। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को हर हाल में पेयजल उपलब्ध हो सके यह व्यवस्था विभाग को करनी होगी भले ही पानी खोलने की अवधि निर्धारित करनी पड़े। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि सभी जनप्रतिनिधि विभागीय अधिकारियों के साथ आपसी तालमेल कर विकास कार्यों को आगे बढ़ाने में रूचि लें साथ ही दूरस्थ क्षेत्रों में भ्रमण कर योजनाओं एवं कार्यो का स्थलीय निरीक्षण भी करना सुनिश्चित करेंगे ताकि कार्यों की गुणवत्ता बनी रहे।

    उन्होंने सिंचाई विभाग, दुग्ध विभाग, उद्यान विभाग, सहकारिता विभाग, पर्यटन, उरेडा सहित अन्य विभागों की समीक्षा के दौरान कहा कि कृषि व उद्यान विभाग काश्तकारों को यथा समय बीज उपलब्ध कराने के साथ ही उनकी समस्याओं का निदान मौके पर ही करना सुनिश्चित करेंगे। पर्यटन विभाग के अधिकारी ऐसे पर्यटक स्थलों को विकसित करने की कोशिश करें जो अभी विभागीय योजनाओं से अछूते है इससे जहाॅ एक ओर पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा वहीं दूसरी ओर जिला पंचायत व पर्यटन विभाग की आय भी बढ़ेगी। उद्योग विभाग के अधिकारी छोटे-छोटे उद्यमियों को प्रोत्साहित करने का कार्य करेंगे ताकि यहाॅ से पलायन रोका जा सके।

    इस बैठक में उपस्थित जिलाधिकारी सविन बंसल ने सदस्यों को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा जो समस्यायें उठायी जायेंगी उनका यथा सम्भव निस्तारण किया जायेगा साथ ही अधिकारियों को निर्देशित किया जायेगा कि वे ग्रामीण क्षेत्रों की खुली बैठक में अनिवार्य रूप से प्रतिभाग करना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि गत दिनों ओलावृष्टि से हुई क्षति का आकलन किया जा रहा है। आकलन करने के पश्चात् जो रिर्पोट प्राप्त होगी उसे संस्तुति सहित शासन को भेज दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि जन समस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए प्रत्येक जिला पंचायत क्षेत्र में एक-एक बहुउददेशीय शिविर का आयोजन लगाये जाने का प्रयास किये जायेंगे ताकि प्रत्येक क्षेत्र में लोगो को उसका लाभ मिल सके। जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी क्षेत्र पंचायत एवं जिला पंचायत की बैठकों में सभी अधिकारियों को निर्देशित किया जायेगा कि वे अपने-अपने विभागो से सम्बन्धित महत्वपूर्ण योजनाओं के बारे में सदस्यों को अवगत करायेंगे। उन्होंने सभी सदस्यों से अपील की, कि उनके क्षेत्रों में जो भी लाभार्थी पेंशन, विकंलाग प्रमाण पत्र आदि से वंचित रह जाते है उनकी सूची तैयार कर सम्बन्धित विभागों को उपलब्ध करायें।

    बैठक के दौरान सदस्यों द्वारा अनेक क्षेत्रों में अवैध शराब की बिक्री एवं चोरी की शिकायत की गयी जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि प्रशासन भी इस बात के लिए गम्भीर है कि अवैध शराब की बिक्री न हो इसके लिए जिला कन्ट्रोल रूम में शिकायत कर सकते है। सदस्यों द्वारा यह भी माॅग रखी गयी कि प्रत्येक ग्राम पंचात की खुली बैठकों में ब्लाॅक स्तरीय अधिकारियों की उपस्थिति सुनिश्चित की जाय। इस दौरान अनेक सदस्यों ने कहा कि जिला नियोजन की बैठकों में सभी सदस्यों के प्रस्तावो पर समान रूप से वरीयता के आधार पर प्राथमिकता दी जाय। सदस्यों द्वारा पर्यटन विभाग की वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत पात्र व्यक्तियों के चयन किये जाने पर जोर दिया और कहा कि जिन लोगो द्वारा आवेदन प्रस्तुत किये जाते है उनका चयन वरीयता के आधार पर हो।

    इस बैठक में जिला पंचायत उपाध्यक्ष शिवेन्द्र रावत, मुख्य विकास अधिकारी जे0एस0 नगन्याल, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मोहन सिंह माहरा, ब्लाॅक प्रमुख पीताम्बर पाण्डे, सहित समस्त जिला पंचायत सदस्य एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। बैठक का संचालन अपर मुख्य अधिकारी एम0एल0 टम्टा ने किया।