बन सकता है आपकी जान का दुश्मन

क्या नहाने के तौलिये का दोबारा इस्तेमाल करना सुरक्षित है? आप कितनी कितनी बार अपना तौलिया धोते हैं? आपको बता दें कि तौलिये की बनावट के कारण बैक्टीरिया उसमें फंस सकते हैं। दूसरा, ज्यादातर तौलिये आमतौर पर ज्यादातर समय घुलनशील होते हैं। यह बैक्टीरिया को बढऩे के लिए अनुकूल वातावरण बनाते हैं।

अगर बैक्टीरिया परिवार में एक सदस्य को संक्रमित करता है, तो बाकी सब भी बीमार पड़ सकते हैं। अध्ययन क्या कहता है? एक नए अध्ययन का दावा है कि आपके बाथरूम में आपके द्वारा उपयोग किए गए तौलिए का 90 फीसदी घातक बैक्टीरिया होता है। वास्तव में कोलिफॉर्म बैक्टीरिया है जो आमतौर पर मल सामग्री में पाया जाता है। यह बैक्टीरिया घर के बाथरूम तौलिये में पाया जाता है।

लैब परीक्षण का दावा क्या है? जब कुछ तौलिये को प्रयोगशाला में भेजे गए थे, तो शोधकर्ताओं ने पाया कि उनमें से 14 फीसदी में ई कोली बैक्टीरिया थे। हम सभी जानते हैं कि ई कोली संक्रमण का कारण बन सकता है।

क्या यह घातक होते हैं? आमतौर पर इससे ज्यादा नुकसान नहीं होता है लेकिन जब प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर या कम होती है, तब आपके बाथरूम तौलिए से बैक्टीरिया भी आप को नुकसान पहुंचा सकते हैं और संक्रमण का कारण बन सकते हैं।

आप तौलिए साझा कर सकते हैं? नहीं। एक ही तौलिये का इस्तेमाल करने से बैक्टीरिया शरीर में आसानी से प्रवेश कर सकते हैं। अपने तौलिए को नियमित रूप से धोएं। यह आपके तौलिये पर बैक्टीरिया की मात्रा को कम करने का यही एकमात्र तरीका है। इसके अलावा, कभी भी अपने तौलिए को नम मत रखें। उन्हें धूप में सुखाएं।

आपको कितनी बार धोना चाहिए? हर दो दिनों में एक बार धोएं। वैसे एक बार इस्तेमाल करने के बाद धोना बेहतर होता है। इसके अलावा, यदि तौलिया पूरी तरह से सूख जाता है, तो बैक्टीरिया के कारण संक्रमित होने की संभावना कम हो सकती है। तौलिया का उपयोग करने से कब बचें? यदि तौलिये से बदबू आ रही है, तो इसका इस्तेमाल कभी नहीं करें। गंध जीवाणु वृद्धि का संकेत है।