पटलों पर हो रहे कार्यो का निरीक्षण

चम्पावत। जिला कार्यालय में लम्बे समय से रखी अनुपयोगी पत्रावलियां, उपकरणों की विडिंग विधिवत रूप से कराना सुनिश्चित करें। यह निर्देश वृहस्पतिवार को जिला कार्यालय के पटलों का निरीक्षण करते समय मंडलायुक्त राजीव रौतेला ने पटल प्रभारी को दिये। उन्होंने कहा कि अनुपयोगी पत्रावलियों के लम्बे समय तक कार्यालय में रहने से अतिरिक्त कक्ष की आवश्यकता और अतिरिक्त भार होता है, इसलिए अनुपयोगी पत्रावलियों की सक्षम अधिकारी से अनुमति लेकर विडिंग कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने शस्त्र लाईसेंस उत्तराधिकारियों की बैठक कर उनके आवेदनों पर कार्यवाही करने के निर्देश भी पटल प्रभारी को दिये।  उन्होंने पटल प्रभारी को जिन वन पंचायतों के चुनाव नहीं कराये हैं उनके चुनाव कराने हेतु जिलाधिकारी को पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। मंडलायुक्त ने खनन प्रभारी को सिंगदा और आसपास सड़क चैड़ीकरण के दौरान निकल रहे माइका खनिज को किसी भी दशा में बाहर न जाने देने के निर्देश दिये। सूचना अधिकार पटल प्रभारी को सूचना मांगने वालों को समयान्तर्गत सूचना उपलब्ध कराने और कोई भी आवेदन लंबित न रखने के निर्देश दिये। उन्होंने रिकार्ड रूम, आंग्ल अभिलेखागार, राजस्व सहायक कक्ष, अपर जिलाधिकारी कक्ष के साथ अन्य पटलों का भी निरीक्षण किया।

उन्होंने पटलों में पत्रावलियों का बेहतर रखरखाव करने, प्रत्येक अलमीरा के बाहर बड़े शब्दों में पत्रावलियों की नाम अंकित करने के निर्देश दिये। मंडलायुक्त ने पटलों पर कार्यरत कर्मी का नाम अंकित करने तथा जिला कार्यालय के प्रवेश द्वार पर पटलों के संकेतांक लगाने के निर्देश दिये जिससे आम आदमी को जानकारी के लिए भटकना न पड़े। उन्होंने आम आदमी के कार्यो को लंबित न रखने तथा समय पर सभी कार्यो को पूर्ण करने के निर्देश दिये जिससे किसी शिकायत का सामना न करना पड़े। मंडलायुक्त ने बेहतर साफ-सफाई, बेहतर फाइलिंग पर खुशी व्यक्त की और अधिक मेहनत से कार्य करने के निर्देश दिये जिससे आम आदमी को किसी भी दिक्कत का सामना न करना पड़े।

उन्होंने जिलाधिकारी एवं अपर जिलाधिकारी को समय-समय पर पटलों पर हो रहे कार्यो का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश देते रहने के निर्देश दिये।  मंडलायुक्त ने जिलाधिकारी को कार्य के आधार पर अधिकारियों को ग्रेड प्रदान करने, सभी अधिकारियों को डेटा डायरी मेन्टेन करने, कार्यालय समय में परिधानों (डेªस) का ध्यान रखने, कार्यालयों एवं आसपास सफाई का विशेष ध्यान देने, जनपद स्तरीय कार्यालय का निरीक्षण करने और कमियों को दूर करने हेतु निर्देशित करने, कार्यालय में समय पर उपस्थित होने, कार्यालय में भ्रमण पंजिका रखने, लोगों की शिकायतों का दो सप्ताह में निराकरण करने, किसी भी प्रकरण को लंबित न रखने के निर्देश दिये।