जिलाधिकारी ने दिया कार्ययोजना पर रणनीति बनाने का निर्देश

ghad Kshetra vikas meetingहरिद्वार। घाड विकास परिषद के सुनियोजित विकास हेतु मुख्य मार्ग, उर्जा, स्वच्छ पेयजल, आंगनबाड़ी केन्द्रों की कार्य योजना बनाकर 15 दिनों में सर्वे कर प्रस्तुत करें। यह निर्देश जिलाधिकारी हरबंस सिंह चुघ ने कलक्ट्रेट सभागार रोशनाबाद में घाड विकास परिषद के विकास हेतु बुलायी गई बैठक में अधिकारियों को दिये। जिलाधिकारी ने इस क्षेत्र के अवस्थापना विकास के लिए सुनियोजित विकास सम्बन्धी कार्ययोजना पर रणनीति बनाने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि हेण्डपम्पों की डुप्लीकेसी को रोकने के लिए क्रास वेरिफिकेशन कर सर्वे करा लिया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक हैण्डपम्प पर उससे सम्बन्धित एजेंसी का डिस्प्ले बोर्ड होना चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी को साफ एवं स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए ओवरहेड टेंक व पाईपलाईन सम्बन्धी कार्य योजना बना ली जाए। जिलाधिकारी ने सी.एम.ओ. ओ. को घाड क्षेत्र में पानी के सैंपल लेने एवं वाटर टेस्टिंग करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि घाड क्षेत्र के सुनियोजित विकास के लिए सभी विभागों द्वारा क्षेत्र की मूलभूत आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए कार्य योजना बनाकर उसका ब्लू प्रिेट एवं मास्टर प्रिंट तैयार किया जाए। उन्होंने कहा कि घाड क्षेत्र के विकास के लिए नई विभागों द्वारा नई योजनाएं बनाई जाए तथा क्षेत्र की प्रमुख समस्याओं को समाधान किया जाए।

घाड क्षेत्र विकास परिषद के अध्यक्ष राव फरमूद ने कहा कि जो घाड क्षेत्र पिछड़ा है, उसके विकास पर विशेष बल दिया जाए उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य 2017 तक घाड क्षेत्र का पूर्ण विकास करना है। सी.डी.ओ. रंजना ने घाड क्षेत्र में पेयजल, स्वास्थ्य एवं शिक्षा पर विशेष बल दिया जाए तथा विभागीय अधिकारियों द्वारा क्षेत्र का निरीक्षण कर प्रमुख समस्याओं को चिन्हित किया जाए। जिससे घाड क्षेत्र के विकास के लिए सुनियोजित कार्य योजना बनाई जा सके।

इस अवसर पर भगवानपुर विधायक ममता राकेश, ज्वालापुर विधायक चन्द्रशेखर, घाड़ क्षेत्र विकास परिषद के उपाध्यक्ष अरूण कुमार त्यागी, संयुक्त मजिस्ट्रेट रूड़की मंगेश घिल्डियाल, सी.एम.ओ. डाॅ सुषमा गुप्ता, एस.डी.एम. हरिद्वार प्रत्यूष सिंह, डी.डी.ओ. एस.एस.शर्मा, डी.पी.ओ. मोहित चैधरी, डी.पी.आर.ओ. जफ्फर खान, मुख्य कृषि अधिकारी जे.पी.तिवारी एवं सम्बन्धित विभागों के विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।