डॉ. नवीन भट्ट बने जीत के सूत्रधार

पवन दूबे, किच्छा

0829e5e2-bbfb-4004-85b4-c6f19975b11eभारतीय जनता पार्टी द्वारा किच्छा में मुख्यमंत्री को हराकर नया इतिहास लिख दिया है। इस जीत की इबारत लिखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने में भारतीय जनता पार्टी संगठन का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। यह बताते चलें की संगठन द्वारा प्रत्येक विधानसभा सीट पर एक-एक पूर्णकालिक कार्यकर्ता को भेजा गया था। इन कार्यकर्ताओं को कई दौर की बैठकों में राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) रामलाल, राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिवप्रकाश व प्रदेश संगठन महामंत्री संजय द्वारा प्रशिक्षित किया गया था।

प्रत्येक विधानसभा को महत्वपूर्ण मानते हुए उन सीटों पर ज्यादा ध्यान दिया गया था, जहां पर हरीश रावत के लड़ने की सम्भावना ज्यादा थी। जिससे कि हरीश रावत को ही ढेर कर नई बनने वाली भारतीय जनता पार्टी सरकार का मार्ग प्रशस्त किया जा सके। हम आपको बताते चलें की संगठन द्वारा भेजे गए पूर्णकालिकों को बूथों की सरंचना से लेकर बूथों का प्रबंधन, कार्यक्रम नियोजन से लेकर केंद्र सरकार द्वारा किये जा रहे जनहित के कामों को जनता तक पहुंचाना था। किच्छा विधानसभा सीट पर मुख्यमंत्री के लड़ने की सम्भावना तो पूर्व से ही थी। किच्छा विधानसभा सीट पर संगठन द्वारा एक ऐसे पूर्णकालिक को भेजा गया जो चुनावी प्रबंधन का मास्टर साबित हुआ।

81a63ec1-88e6-4365-a2e0-463fd87fb464पूरी किच्छा विधानसभा के अन्तर्गत भारतीय जनता पार्टी संगठन के द्वारा पूर्णकालिकों के माध्यम से अपनी विजय निश्चित की है। विशेष रूप से किच्छा विधानसभा में आये अप्रत्याशित परिणामों से पता चला है कि भाजपा के कार्यकर्ताओं ने कितनी मेहनत की है। मुख्य रूप से संगठन द्वारा नियुक्त पूर्णकालिक डॉ. नवीन भट्ट ने दिन दूनी रात चौगुनी मेहनत की है। डॉ. नवीन भट्ट जो कि कुमाऊं विश्वविद्यालय में योग शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष के पद पर कार्यरत हैं। बहरहाल, इतना जरूर कहा जा सकता है कि डॉ. नवीन भट्ट की मेहनत भी रंग लाई है। इसी श्रेणी में यदि डॉ. नवीन भट्ट की प्रतिभा की बात करें तो एक खुशनुमा लहर सभी के सामने होगी। इतना जरूर बता दें कि डॉ. नवीन भट्ट वह नाम है, जिन्होंने राजकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय खटीमा में उपसचिव, महासचिव व छात्रसंघ अध्यक्ष के महत्वपूर्ण पदों में रहते हुये अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत की। साथ ही साथ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, बजरंग दल विद्यार्थी परिषद और अनेक अनुसांगिक संगठनों में कार्य करने के उपरांत डॉ. नवीन भट्ट आल्मोड़ा जिला प्रचार प्रमुख भी रहे।

2412a6d3-bfa0-4daf-bb99-936fa25e2f72डॉ. नवीन भट्ट वर्तमान समय में कुमाऊं विश्वविद्यालय में योग शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष हैं। उनकी सांगठनिक क्षमता को देखते हुये भाजपा संगठन ने उन्हें किच्छा जैसी महत्वपूर्ण सीट पर पूर्णकालिक नियुक्त किया गया। हालांकि सभी को पता है कि इसी सीट से मुख्यमंत्री हरीश रावत भी कांग्रेस के उम्मीद्वार के रूप में चुनाव लड़ रहे थे। परन्तु डॉ. नवीन भट्ट की प्रतिभा और कार्य के प्रति लगन को देखते हुये मुख्यमंत्री हरीश रावत के अरमान भी पूरे नहीं हो पाये और भाजपा ही चुनावी होली खेल पायी। देखने में यह भी आया कि डॉ. नवीन भट्ट ने मुख्यतः ‘‘बूथ जीता-चुनाव जीता’’ की योजना पर काम किया और पूरे जोश के साथ इस कार्य में जुट गये। जिसके अन्तर्गत इन्होंने बूथ के प्रबंधन पर विशेष जोर दिया। बूथ प्रबंधन में इन्होंने बूथ की कार्यकारिणी को मजबूत करने के निर्णय के साथ कार्य किया। वहीं दूसरी ओर डॉ. नवीन भट्ट ऐसी नीतियां भी तैयार की, जिससे कि बूथ के प्रत्येक स्तर पर कार्यकर्ता सजग होकर कार्य कर पाये और बूथ को आसानी से जीता जा सके।

डॉ. नवीन भट्ट के सजग प्रयासों के चलते ही भारतीय जनता को मजबूती मिल पायी। जिसके कारण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा प्रदेश में लागू की गयी योजनाओं और नीतियों को भाजपा बूथ कार्यकर्ताओं के द्वारा आम जन को बखूबी बताया और समझाया गया। परिणामस्वरूप राजेश शुक्ला ने मजबूत और कद्दावर नेता मुख्यमंत्री हरीश रावत को भी धूल चटा दी और कांग्रेस के किले में सेंध लगा दी।

69fc65da-5ddc-4730-b2fc-5021a18d1175बहरहाल, किच्छा सीट में राजेश शुक्ला द्वारा मुख्यमंत्री हरीश रावत को परास्त करना भारतीय जनता पाटी और स्वयं राजेश शुक्ला के लिए एक ऐतिहासिक जीत है। संगठन के द्वारा डॉ. नवीन भट्ट को चुनावी योजना के साथ भेजना और डॉ. नवीन भट्ट के द्वारा रचे गये चुनावी चक्रव्यूह को मुख्यमंत्री हरीश रावत भी भेद नहीं पाये। क्योंकि भाजपा संगठन की चुनावी योजना, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वास्तविक कार्यों को धरातल देना तथा केन्द्र सरकार के कार्यों को जनता तक पहुंचाने जिम्मा डॉ. नवीन भट्ट के कंधे पर था। जिसे उन्होंने पूर्ण निष्ठा और कठोर परिश्रम के साथ बखूबी निभाया और किच्छा विधानसभा में भाजपा का जीत का बिगुल गूंजने में सहायता मिली। डॉ. नवीन भट्ट ने किच्छा विधानसभा के अन्तर्गत आने वाले 140 बूथों की सांगठनिक शक्ति, संरचना और आम जनता के सामने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यों को पहुंचाया।

डॉ. नवीन भट्ट के नेतृत्व में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यों को भाजपा संगठन के प्रत्येक कार्यकर्ता के द्वारा पहुंचाया गया। इन्होंने अपने कठोर परिश्रम से प्रत्येक बूथ को सजीवता प्रदान की और बूथ मैनेजमेंट पर मुख्य रूप से ध्यान दिया गया। इनके कठोर परिश्रम के चलते किच्छा विधानसभा के बूथों में सुनियोजित कार्य हुआ। किच्छा विधानसभा में एक पूर्णकालिक के पद पर नियुक्त डॉ. नवीन भट्ट ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है और चुनाव को एक अच्छे अंजाम तक पहुंचाने का कार्य किया है।

1b84c774-24f3-4b4a-8b85-ab0849647801आपको अवगत करा दें कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय संगठन के द्वारा प्रत्येक विधानसभा सीट पर एक पूर्णकालिक की नियुक्ति की गयी थी। जिन्होंने वहां पर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। पूर्णकालिकों के कार्यों में बूथ प्रबंधन, बूथ मैनेजमेंट और बूथों की वास्तविक मतों की स्थिति का आंकलन करते हुये जीत की रणनीति बनाना मुख्य था। मतों को अपनी ओर आकर्षित करने का चुनावी व्यूह रचते हुये डॉ. नवीन भट्ट ने प्रत्येक बूथ पर जाकर कार्य किया। डॉ. नवीन भट्ट ने एक सुनियोजित और मजबूत टीम के बनाकर चुनाव प्रबंधन के लिए क्रियान्वित किया। वहीं दूसरी ओर इन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा देश और प्रदेश में किये गये कार्यों को बूथ की कार्यकारिणियों और कार्यकर्ताओं के माध्यम से आम जनता तक पहुंचाने का कार्य किया।

बहरहाल, डॉ. नवीन भट्ट की बूथ रचना और कार्यनिष्ठा से भाजपा को मजबूती मिली है। राजेश शुक्ला के चुनावी तीरों से धराशायी मुख्यमंत्री हरीश रावत के विपरीत देखने को मिला कि आम जनता जमीनी रूप से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से जुड़ी हुयी है। इस जागरूकता में डॉ. नवीन भट्ट के परिश्रम और संगठन की योजना रचना का मुख्य श्रेय है। जिस कारण मुख्यमंत्री हरीश रावत को हार देखने को मिली और राजेश शुक्ला एवं भाजपा को मजबूती मिली।

डॉ. नवीन भट्ट के कार्यों को बताती तस्वीरें…

13674afa-4a6d-4678-a417-8a72549cc6c2

61589b89-854e-4d40-990f-629298e7e2eb

a9f20c14-9394-4ae9-b903-3d7ba654ced0

fc8ccef6-58f5-48ac-8e55-9ad2269fb76a