ईमानदार केजरीवाल के काले मंत्री

आर.बी.एल.निगम, दिल्ली ब्यूरो चीफ़

RBL Nigamनयी दिल्ली से पूर्व सांसद और दिल्ली के वर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने केजरीवाल और आम आदमी पार्टी को ‘मफलर बाबा और 40 चोर’ बताया है और भ्रष्टाचार  के कई सबूत दिखाकर दिल्ली के छद्दम ईमानदार मुख्यमंत्री अरविन्द  केजरीवाल और आम आदमी पार्टी की पोल खोलने की कोशिश की है। उन्होंने आप विधायक और दिल्ली के फ़ूड एवं एन्वायरमेंट मंत्री  इमरान हुसैन के खिलाफ सनसनीखेज खुलासे किये हैं। ऑडियो और वीडियो दिखाते हुए कहा कि केजरीवाल के मंत्री दिल्ली में भ्रष्टाचार करने में लगे हुए हैं और भ्रष्टाचार ख़त्म करने की बड़ी बड़ी बातें करते हैं।

क्या है ऑडियो वीडियो में

ऑडियो और वीडियो क्लिप में आप मंत्री इमरान हुसैन के भाई गुफरान का नाम लेकर दो सरकारी कर्मचारी एक बिल्डर से पैसे मांग रहे हैं। यह ऑडियो जनवरी 2016 में रिकॉर्ड की गयी है और इसमें दावा किया गया है कि दिल्ली नगर निगम में जेई राकेश यादव इमरान और उनके भाई गुफरान का नाम लेकर बिल्डर जमीर मोहम्मद कासिम को धमकी दे रहे हैं और 30 गज जमीन पर निर्माण कराने के बदले 25-30 लाख रुपये देने की मांग कर रहे हैं।

अजय माकन ने एक वीडियो भी जारी किया है जिसमें एक दूसरे जेई हम्माद बिल्डर कासिम से यह कह रहे हैं कि ‘जमीन का मामला निपटाने के लिए 25-30 लाख रुपये देने पड़ेंगे क्यूंकि मंत्री जी इससे कम में नहीं मानेंगे’, कांग्रेस ने बताया कि यह वीडियो पिछले वर्ष 28 दिसम्बर को रिकॉर्ड किया गया था।

अब क्या करेंगे अजय माकन

makan-newsअजय माकन ने कहा कि केजरीवाल के मंत्री इमरान हुसैन भ्रष्टाचार में लिफ्ट हैं, वे उनके खिलाफ सीबीआई जांच की मांग करेंगे और यह सभी सबूत सीबीआई को सौंपेंगे। वे केजरीवाल को भी यह सबूत सौंपेंगे और उनके मंत्री के खिलाफ कार्यवाही की मांग करेंगे। अजय माकन ने सुबह ही केजरीवाल की पोल खोलने की बात कहकर हडकंप मचा दिया था। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा था कि ‘मफलर बाबा 40 चोर की पोल जल्द ही खुलने वाली है’, अब भ्रष्ट सरकार की पोल खोलकर यह बताया जाएगा कि जनता को बेईमानी की टोपी कौन पहना रहा है।

अजय माकन ने यह भी कहा है कि आम आदमी पार्टी के एक वर्ष पूरे होने पर कांग्रेस 14 फरवरी को दिल्ली में छलावा दिवस मनाएगी, हालाँकि केजरीवाल इस दिन ‘एक साल बेमिसाल’ नाम से मनाने जा रहे हैं। कांग्रेस छलावा दिवस मनाने के लिए राजघाट पर इकठ्ठी होगी और दिल्ली वालों की सलामती की दुआ करेगी।

इसमें कोई दो राय नहीं कि जिनके घर शीशे को हों उन्हें दूसरों के घर पत्थर नहीं फेंकने चाहिए। लेकिन अक्कल पर पत्थर पड़े केजरीवाल यही नीति अपनाते हुए ही दिल्ली के मुख्यमंत्री बने हैं। यदि गंभीरता से जाँच की जाये तो न जाने कितने दागी सामने आएंगे। इमरान हो या कासिम ये तो पहले से ही संदेह के घेरे में थे। इसमें कोई नई बात नहीं की कांग्रेस ने खुलासा किया है। कांग्रेस को अपनी साख बचाने के लिए इस आम आदमी पार्टी को बेनकाब करना होगा। भाजपा से अधिक कांग्रेस को इस आआप की नसें मालूम है।