नवंबर में प्रदेश भाजपा को नया नेतृत्व

देहरादून। मिशन-2017 की तैयारी में जुटी उत्तराखंड भाजपा 20 नवंबर 2015 तक नई सूरत व नए तेवर में नजर आ सकती है। भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेश के सांगठनिक चुनाव संपन्न कराने के लिए 20 नवंबर की तिथि निर्धारित कराने के लिए 20 नवंबर की तिथि निर्धारित कर दी।

ऐसे में तीन-चार अक्टूबर को काशीपुर में प्रस्तावित प्रदेश कार्यसमिति के बैठक मौजूदा प्रदेश कार्यकारिणी की अंतिम प्रदेश कार्यसमिति साबित हो सकती है। भाजपा की प्रदेश को कमेटी ने राज्य की कांग्रेस सरकार के खिलाफ जल्द ही भ्रष्टाचार के मुद्दे पर व्यापक आंदोलन छेड़ने का फैसला किया है। इसकी रणनीति व कार्यक्रम भी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में ही घोषित की जाएगी।

शनिवार को नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट के आवास पर आयोजित प्रदेश कोर कमेटी की बैठक मेे उक्त निर्णय किए गए। प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत ने कहा कि राज्य में सक्रिय सदस्यों के सत्यापन की प्रक्रिया जारी है। सितंबर में बूथ चुनाव कराने के बाद 15 अक्टूबर तक जिला इकाईयों के चुनाव संपन्न करा लिए जाएंगे।

केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेश कार्यकारिणी के चुनाव संपन्न कराने के लिए 20 नवंबर की तिथि तय कर दी है। इससे पूर्व तीन व चार अक्टूबर को ऊधमसिंहनगर जिले के काशीपुर में प्रदेश कार्यसमिति की बैठक होगी। कांग्रेस सरकार के खिलाफ हमलावर रूख अपनाते हुए कोर कमेठी ने भ्रष्ठाचार के मुद्दे पर जल्द व्यापक आंदोलन छेड़ने का भी निर्णय किया। इसकी रणनीति बनाने के लिए जल्द एक कमेठी गठित की जाएगी। इसके अलावा, आबकारी सीडी व आपदा राहत होटले की सीबीआइ जांच कराने की मांग को लेकर प्रदेश भाजपा का प्रतिनिधि मंडल जल्द ही केंद्रीय गृहमत्री से मिलेगा।

विपक्षी विधायकों के उत्पीड़न, पेट्रोल की दरों में वृ(ि जैसे अन्य जनपक्षीय मुद्दों को लेकर भी भाजपा विधानसभा के भीतर व बाहर कांग्रेस सरकार पर हमला बोलेगी। बैठक में राष्ट्रीय सह महामंत्री संगठन शिवप्रकाश, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व उत्तराखंड प्रभारी श्याम जाजू, पार्टी सांसद भुवन चंद्र खंडूड़ी, भगतसिंह कोश्यारी, डा. रमेश पोखरियाल निशंक, प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत, नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट, पूर्व राष्ट्रीय सचिव त्रिवेंद्र सिंह रावत, प्रदेश महामंत्री प्रकाश पंत, ज्ञान सिंह नेगी, नरेश बंसल उपस्थित थे।