आवाज को ताकत दिए बिना सच्चा लोकतंत्र कायम नहीं किया जा सकता : CM

cm-photo-04-dtदेहरादून। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि देश में बड़े परिवर्तन के लिए सामाजिक मुहिम की जरूरत है। विभिन्न क्षेत्रों में व्यक्तिगत स्तर पर काम कर रहे लोगों के जज्बों से समाज में परिवर्तन आ सकता है। ओएनजीसी सभागार में यूथ आईकन अवार्ड समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली विभूतियों को सम्मानित करते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि जो समाज अपने बीच की प्रतिभाओं को पहचानता है, सम्मानित करता है, वह वास्तव में अपने लिए रास्ता बनाता है। इससे दूसरों को भी समाज के लिए करने की प्रेरणा मिलती है।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि सच्चे मायने में समावेशी विकास तभी सम्भव है जब  अपने गांव, समाज को बदलने की ललक हो। सुश्री कविता बिष्ट, दिव्या रावत का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि समाज व गांवों की तस्वीर बदलने के लिए बहुत से लोगों ने बिना संसाधनों की परवाह किए वो काम किया है जो पूरा सिस्टम भी नहीं कर पाता है।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि कमजोर की आवाज को ताकत दिए बिना सच्चा लोकतंत्र कायम नहीं किया जा सकता है। चुनावों में बढ़ते धनबल पर चिंता जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि इलेक्टोरल रिफोर्म की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता लाने के विशेष प्रयास करने होंगे। पब्लिक हेल्थ सिस्टम में सुधार भी बड़ी चुनौती है। पर्वतीय क्षेत्रों में डाक्टरों की कमी के कारण फार्मासिस्ट, एएनएम, आशा, दाईयां आदि की सेवाएं लेते हुए मिनिमम हेल्थ सर्विस प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है। राज्य में 1 लाख 75 हजार रूपए तक का मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा, सहायक के तौर पर उपलब्ध करवाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने आयोजक संस्था की ओर से अभिनेत्री हिमानी शिवपुरी, पत्रकार निधि कुलपति, ओलम्पियन मनीष रावत, बाल चैपाल के आनंद कृष्ण मिश्र, लोक गायिका अनुराधा निराला, समाजसेवी अनुजा कपूर, श्वेता तलवार, शिक्षक व लेखक सुशील कुमार सिंह, सहित अन्य व्यक्तियों को समाज में उत्कृष्ट योगदान के लिए सम्मानित किया। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश, डा. महेश कुरियाल, डा. आरके जैन सहित अन्य लोग उपस्थित थे।