स्वास्थ्य क्षेत्र में लोगों में जागरूकता का होना सबसे महत्वपूर्ण है : मुख्यमंत्री

CM Photo 07, dt.27 October, 2015देहरादून। जो लोग आउट आॅफ द बाक्स जाकर काम करते हैं, और समाज के लिए कुछ अतिरिक्त करने का प्रयास करते हैं, उनसे प्रेरणा प्राप्त की जानी चाहिए। मंगलवार को अग्रवाल धर्मशाला में केन प्रोटेक्ट फाउंडेशन द्वारा महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर के प्रति जागरूकता शिविर के समापन अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि ‘आई केन डू’ की भावना से ही समाज में योगदान दिया जा सकता है। संस्था की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में लोगों में जागरूकता का होना सबसे महत्वपूर्ण है।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि जानकारियों के अभाव में बहुत सी बीमारियां जानलेवा बन जाती हैं। ब्रेस्ट केंसर ऐसी ही बीमारी है। इसका यदि जल्दी पता चल जाए तो इससे बचाव सम्भव है। परंतु भारत जैसे देशों में सामाजिक कारणों से यह नहीं हो पा रहा है। महिलाएं अपना पूरा जीवन अपने परिवार को समर्पित कर देती है और बीमारियों की जांच भी कराने से परहेज करती है कि कहीं इससे उनके परिवार पर बोझ न आ जाए। नियमित रूप से चैकअप कराया जाना आवश्यक है।  मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि प्रदेश में तमाम कोशिशों के बावजूद स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभी भी काफी कुछ किए जाने की सम्भावना है। इसमें निजी संस्थाओं का भी सहयोग भी लिया जा रहा है। केन प्रोटेक्शन फाउंडेशन की तरह ही अन्य संस्थाओं को आगे आकर इनके द्वारा प्रारम्भ किए गए मिशन को आगे बढ़ाना चाहिए।

संस्था के संरक्षक न्यूरो सर्जन डा.महेश कुडि़याल ने कहा कि ब्रेस्ट केंसर का अर्ली डिटेक्शन हो तो सफलता का प्रतिशत काफी अधिक रहता है। 40 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को नियमित तौर पर मेमोग्राफी टेस्ट कराना चाहिए। संस्था आने वाले समय में उत्तराखण्ड में अन्य विषयों पर भी जागरूकता अभियान चलाएगी। संस्था की अध्यक्ष डा.सुमिता प्रभाकर ने बताया कि भारत में गत वर्ष लगभग 2 लाख महिलाएं ब्रेस्ट केंसर से पीडि़त रही हैं इनमें से 70 हजार महिलाओं की मृत्यु हो गई। इसका बड़ा कारण यह रहा कि उन्हें इस रोग की जानकारी बहुत देर से पता चली। अमरीका में सफलता का प्रतिशत 90 प्रतिशत है जबकि भारत में सफलता का  प्रतिशत तुलनातमक रूप से बहुत कम रहा है।  यदि जागरूकता व चैकअप शिविरों का संचालन नियमित तौर पर किया जाता रहे तो बे्रस्ट केंसर की रोकथाम की जा सकती है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने सराहनीय कार्य करने वाली विभूतियों को संस्था की ओर से सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में केबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल, महानिदेशक स्वास्थ्य डा.आरपी भट्ट सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।