9044 बालक व 8224 बालिकाओं का किया गया टीकाकरण

चम्पावत। मिजेल्स रूबेला की जनपद नोडल अधिकारी डा.रश्मि पंत ने अवगत कराया है कि 31 अक्टूबर से अब तक तहसील चम्पावत में 17145 के लक्ष्य के सापेक्ष 88 विद्यालयों के 9044 बालक व 8224 बालिकाओं को मिजेल्स रूबेला का टीकाकरण कर आच्छादित किया गया है।

उन्होंने बताया कि  टनकपुर में 18108 बच्चों के लक्ष्य के सापेक्ष 50 विद्यालयों के 8167 बालक एवं 7091 बालिकाओं को टीकाकरण से आच्छादित करने के साथ लोहाघाट के 15170 के लक्ष्य के सापेक्ष 75 विद्यालयों के 6104 बालक एवं 5070 बालिकाओं को, पाटी में 12886 के लक्ष्य के सापेक्ष 54 विद्यालयों में 6362 बालक एवं 6401 बालिकाएं तथा बाराकोट में 6060 बच्चों के टीकाकरण के सापेक्ष 24 विद्यालयों के 3251 बालक एवं 2935 बालिकाओं को स्वास्थ्य एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से विद्यालय समय में मिजेल्स रूबेला का टीकाकरण कर लिया गया है।

उन्होंने बताया कि जनपद में 9 माह से 15 वर्ष तक के 69369 बालक/बालिकाओं को मिजेल्स रूबेला टीकाकरण लगाने लक्ष्य है। डा.पंत ने बताया कि वर्तमान तक चम्पावत में 100.7 प्रतिशत, टनकपुर में 84.3 प्रतिशत, लोहाघाट में 73.7 प्रतिशत, पाटी में 99 प्रतिशत तथा बाराकोट में 102.1 प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है।

उन्होंने बताया कि अभी तक जनपद के 32928 बालक तथा 29721 बालिकाओं के साथ 240 आॅउट आफ स्कूल बच्चों का टीकाकरण कर लिया गया है। उन्होंने कहा है कि अवशेष बच्चों के टीकाकरण हेतु मोबाइल टीम व एएनएम द्वारा घर-घर जाकर टीकाकरण किया जा रहा है जिसके लिए 218 सहायक भी टीकाकरण में सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि माह के अंत तक शतप्रतिशत लक्ष्य प्राप्त कर लिया जायेगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.एमएस बोरा ने मिजेल्स रूबेला टीकाकरण अभियान में लगे सभी एमओआईसी, फार्मासिस्ट, एएनएम सहित बाल विकास विभाग के ड्यूटी में तैनात कार्मिकों को घर-घर जाकर सभी बच्चों का टीकाकरण करने और उसकी प्रतिदिन की रिपोर्ट उनके कार्यालय को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं।

उन्होंने कहा है कि मिजेल्स रूबेला टीकाकरण अभियान में कोई भी बच्चा छूटने न पाये। उन्होंने इस राष्ट्रीय महत्व के कार्यक्रम में किसी भी तरह की लापरवाही न बरतने की सलाह दी है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जनपद के सभी पाल्यों के अभिभावकों से मिजेल्स रूबेला टीकाकरण हेतु आगे आकर सहयोग करने का अनुरोध किया है।