बहुगुणा ने मिशन के लिए जीवन समर्पित किया

देहरादून। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को जीएमएस रोड़ स्थित वाडिया इंस्टीट्यूट में पद्म विभूषण से अलंकृत श्री सुन्दरलाल बहुगुणा के जीवन पर आधारित पुस्तक ’’ हिमालय में महात्मा गांधी के सिपाही सुन्दरलाल बहुगुणा‘‘ का विमोचन किया। पदम् भूषण से अलंकृत भू-वैज्ञानिक प्रो. के.एस. वल्दिया द्वारा लिखित सुन्दरलाल बहुगुणा की इस जीवनी में श्री बहुगुणा के जीवन के संघर्षों, महात्मा गांधी के विचारों का प्रभाव एवं उनके जीवन के अनुभवों का वर्णन किया गया है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पर्यावरणविद श्री सुन्दरलाल बहुगुणा ने एक मिशन के लिए अपना जीवन समर्पित किया। पर्यावरण के क्षेत्र में जो कार्य बहुगुणा जी ने किये वह आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणा स्रोत होंगे। इस अवसर पर पर्यावरणविद श्री सुन्दरलाल बहुगुणा ने कहा कि भारतीय परम्परा त्याग करने वाले पुरूषों के सम्मान करने की रही है। त्याग, तपस्या और सेवा से ही देश तरक्की करेगा। व्यक्तिगत जीवन में खुश रहने के लिए सादगी, संयम और सदाचार जरूरी है।

इस अवसर पर पर्यावरणविद् श्री सुन्दरलाल बहुगुणा की पत्नी श्रीमती विमला बहुगुणा, निदेशक वाडिया इंस्टीट्यूट श्रीमती मीरा तिवारी, निदेशक उत्तराखण्ड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र डाॅ दुर्गेश पंत आदि उपस्थित थे।