श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के अध्यक्ष बने ​ललितेन्द्र

  • महामंत्री बने अहसान
  • प्रदीप गर्ग ने की घोषणा
  • एक हफ्ते में होगा नयी कार्यकारिणी का गठन

हरिद्वार। अचानक हुए घटनाक्रम में श्रमजीवी पत्रकार यूनियन ने अपना विस्तार कर लिया। अब यूनियन के नये अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार ललितेन्द्र नाथ होंगे तथा महामंत्री का दायित्व पत्रकार अहसान अंसारी को सौंपा गया है। इससे पहले वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप गर्ग ने अध्यक्ष पद से अपने इस्तीफे का ऐलान किया तथा नये गठन की घोषणा की। अगले सात दिनों में वे तथा नये अध्यक्ष और महामंत्री कार्यकारिणी का गठन कर लेंगे। श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के महामंत्री विश्वजीत सिंह नेगी ने नयी कार्यकारिणी को अपनी बधाई दी हैं।

प्रेस क्लब सभागार में आहूत श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की बैठक में आज 14 नये पत्रकार सदस्यों ने सदस्यता ली। प्रदेश महामंत्री से विमर्श के बाद आहूत बैठक से ठीक पहले कार्यकारिणी के ऐलान के साथ अध्यक्ष प्रदीप गर्ग ने अपना इस्तीफा दिया तथा सर्वानुमति से ललितेन्द्र नाथ के अध्यक्ष तथा अहसान अंसारी के महामंत्री होने की घोषणा की। कुछ और वरिष्ठ सदस्य अगले दो एक रोज में यूनियन की सदस्यता ग्रहण करेंगे। सदन ने कार्यकारिणी के गठन के लिए पत्रकार प्रदीप गर्ग, नये अध्यक्ष ​ललितेन्द्र नाथ, महामंत्री अहसान अंसारी तथा पूर्व महामंत्री अनूप सिंह का नाम तय किया। सात दिन में कार्यकारिणी का गठन होगा जिसके बाद एक भव्य कार्यक्रम में नयी कार्यकारिणी शपथ लेगी।

इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष प्रदीप गर्ग ने कहा कि साथियों के साथ आने से यूनियन मजबूत होकर उभरी है। सबको मिलकर पत्रकार हितों के लिए काम करना होगा। नये अध्यक्ष ललितेन्द्र नाथ ने कहा कि वे सबको साथ लेकर चलेंगे तथा पत्रकार हितों के लिए वर्कशॉप, गोष्ठियों तथा शैक्षिक टूर भी आयोजित करेंगे। महामंत्री अहसान अंसारी ने कहा कि अपने पुराने साथियों के मध्य आकर वे खुश हैं और जो काम उन्हें सौंपा जायेगा वे उसे पूरी निष्ठा के साथ निर्वहन करेंगे।

मनोज रावत व रामेश्वर दयाल शर्मा ने कहा कि उन्हें मिलकर पत्रकार संगठन व पत्रकार एकता के लिए काम करना होगा। शिवा अग्रवाल व अश्विनी अरोड़ा ने कहा कि समाज हित चिंतन को लेकर हमें एकजुटता दिखानी होगी तथा जमीनी स्तर पर काम कर दिखाना होगा। महावीर नेगी, नवीन चौहान ने कहा कि पत्रकारिता में नयी विधाएं आयी हैं जिसको लेकर हमें अपने मध्य जागरूक माहौल पैदा करना होगा। एम एस नवाज, आनंद गोस्वामी व अशोक गिरी ने साथियों को समर्थन और सहयोग के साथ पत्रकार एकता पर जोर दिया। विकास चौहान, अनिल बिष्ट, ओपी चौहान, केपी सिंह, देवम मेहता, अर्जुन चौहान आदि ने भी अपने विचार रखे।