अब किसानों की आय होगी दुगुनी

चमोली। वीडियो काॅन्फे्रंसिग के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने 2022 तक किसानों की आय दो गुनी करने की कार्ययोजना की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि जिलों में कलस्टरवार कृषि को प्रोत्साहित किया जाय। कहा कि फसलों की उत्पादकता बढ़ाने के लिये कृषकों को उन्नत किस्म के बीजों तक पहॅुच बनानी होगी।  मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलाधिकारी कलस्टर्स के अनुसार वहां पैदा होने वाली फसलों का अध्ययन कर उन्नत बीजों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय।

उन्होंने कहा कि सरकारी विभाग के कई विभाग और विभिन्न परियोजनाएं अलग-अलग कृषि तथा एलाइड क्षेत्रों में काम कर रही है। इन सभी को एक समग्र कोआर्डिनेटेड प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने जनपद स्तर पर सभी रेखीय विभागों की कोर्डिनेशन कमेटी बनाने के निर्देश भी दिये। कहा कि जिस कलस्टर में जो फसल या उत्पाद चिन्हित हो उससे जुडे सेक्टर में लोगों को स्किल डेवलेपमेंट योजना के तहत प्रशिक्षित भी किया जाय।

इस अवसर पर जिलाधिकारी आशीष जोशी ने वीडियो काॅन्फे्रसिंग के माध्यम से अवगत कराया कि 2022 तक किसानों की आय दो गुनी करने की कार्ययोजना के तहत जिले में 11 कलस्टर चिन्हित किये गये हैं। उन्होंने जिले की प्रस्तावित कार्ययोजना की विस्तार से जानकारी देते हुए कलस्टवार विभागीय गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। कहा कि बद्रीनाथ यात्रा रूट पर फूलों की खेती को कार्ययोजना में शामिल किया गया है। कहा कि आधुनिक कृषियंत्रों को बढ़ावा दिया जायेगा जिससे महिलाओं पर बोझ कम पडे। उन्होंने अवगत कराया कि मृदा परीक्षण आधारित पोषण तत्व एवं प्रबन्धन फसलोत्पादन सुनिश्चित किया जायेगा।

किसानों को मृदा स्वाथ्य कार्ड भी दिये जायेंगे। किसानों को नकदी फसलों के उत्पादन हेतु प्रोत्साहित करने की कार्ययोजना भी शामिल की गई है। उन्होंने यह भी अवगत कराया कि बदरी गाय के दुग्ध को बढ़ाने तथा बदरी गाय के नाम से दुग्ध ब्रान्ड तैयार कर बदरी ब्रान्ड दुग्ध उत्पादन से पशुपालकों की आजीविका बढेगी।      इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी विनोद गोस्वामी, जिला विकास अधिकारी आनंद सिंह, मुख्य कृषि अधिकारी रामलाल चन्द्रवाल सहित उद्यान विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।