आत्महत्या का मामला पहुंचा कोर्ट

उत्तराखंड में कर्ज में डूबे किसानों की आत्महत्या से हुई मौत का मामला उत्तराखंड उच्च न्यायालय पहुंच गया है। उधम सिंह नगर जिले के शांतिपुरी निवासी किसान गणेश उपाध्याय की कोर्ट में जनहित याचिका दायर की है।

इस याचिका में केंद्र सरकार व अन्य को पार्टी बनाते हुए राहत की मांग की गई है। बुधवार को इस मामले में मुख्य न्यायाधीश केएम जोसफ और न्यायमूर्ति आलोक सिंह की खंडपीठ ने सुनवाई की। सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार, राज्य सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक को नोटिस जारी करते हुए न्यायालय ने 21 दिन के भीतर सभी से जवाब देने को कहा है।

बता दें कि उत्तराखंड में अबतक 7 किसानों ने कर्ज के बोझ तले आत्महत्या का रास्ता चुना है। सबसे ज्यादा आंकड़ा कुमाऊं से है। पिथौरागढ़ में किसानों से सरकार की नीतियों के खिलाफ कई प्रदर्शन भी किये थे। किसानों की आत्यहत्या का मामला विपक्ष ने भी खूब जोरों शोरों से उठाया था।